एक कोशिश

कुछ ख़याल आ रहे थे ज़हन में तो लिखने की कोशिश की है और साथ में एक कोशिश और की है, रदीफ़ में अपना नाम लगाने की…
टिप्पणी का मुन्तज़िर रहूंगा…

सब तो तेरे पास है रोहित
क्या है जिसकी आस है रोहित

एक ख़ुदा ही है जो सच है
बाकी सब बकवास है रोहित

जैसे जीता है तू जी ले
क्या लिखना इतिहास है रोहित

तू भी हड़्ड़ी पसली चमड़ी
कौनसा तू कोई ख़ास है रोहित

एक साथ मुस्कान-ओ-आँसू?
दुनिया का एहसास है रोहित

क्या खुश है तू इन्सां बन के
ये तेरा बनवास है रोहित

चाहे फिर घुटना मरना हो
जीवन सब को रास है रोहित

अस्ल में चाहे दो कौड़ी हो
दिखता सब अल्मास है रोहित

धरती अम्बर एक करेगा
ये कैसा विश्वास है रोहित

बड़ा खा रहा है छोटे को
ये जीने की प्यास है रोहित

वक़्त पड़े छुप जाएगा तू
काहे का बिन्दास है रोहित

जीना है जैसे दिन निकलें
जीना एक सिपास है रोहित

और न शायर का मुँह खुलवा
दिल में बहुत भड़ास है रोहित

रोहित जैन
01-09-2010

अल्मास – Diamond
सिपास – Obligation

Published in: on सितम्बर 2, 2010 at 7:32 पूर्वाह्न  Comments (11)  
Tags: , , , , , , , , , ,

The URI to TrackBack this entry is: https://rohitler.wordpress.com/2010/09/02/sab-to-tere-paas-hai/trackback/

RSS feed for comments on this post.

11 टिप्पणियाँटिप्पणी करे

  1. बात अपनी ही बता कर,
    सबकी कह दी बात रोहित।

  2. अस्ल में चाहे दो कौड़ी हो
    दिखता सब अल्मास है रोहित…

    बेहतर….

  3. bahut sunder koshish…

    kaafiyaa badi khoobsoorati se nibhaa gaye aap…..

    aakhir mein maqtaa bhi kahte to majaa aataa….

  4. sunder koshish…

    kaafiyaa khoob nibhaayaa hai aapne…

    aakhir mein maqtaa bhi kah dete ji…

  5. As always, very nice…

  6. अपना ही नाम हर दूसरी लाइन में पढ़ना एक अजीब सा रोमांच ..काफी अच्छा लगा..अपना नाम एक साथ इतनी बार कभी लिया याद नहीं आता….

    खैर सेम नेम बढ़िया कोशिश

  7. bahut achchha va satiik………..satya vachan

  8. bahut hi badiya likha hai aapne….

    Mere blog par bhi sawaagat hai aapka…..

    http://asilentsilence.blogspot.com/

    http://bannedarea.blogspot.com/

    ek Music Blog ka link share kar rahi hun hope you like…
    Download Direct Hindi Music Songs And Ghazals

  9. Wah saab jeevan ke prati aapaka najariya jo bayan kiya praiseworthy..
    Halke-fulke shabdon ke jariye vajandar baat kah dete hain aap..

  10. Thanks for sharing this..nice one…

  11. likhte rahiye.shubhkamnayen.


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: